Camera क्या है | Camere का आविष्कार किसने किया | कैमरा कितने प्रकार का होता है1 min read

0
104
Reading Time: 5 minutes

हैल्लो दोस्तों स्वागत है Gyaanhindime.com में | आज के युग में कैमरे का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है| हर कोई इसका इस्तेमाल किसी न किसी कार्य के लिए करता है कोई सिर्फ मनोरंजन के लिए तो कोई अपने काम के लिए हर प्रकार से कैमरे का इस्तेमाल किया जाता है | लेकिन बहुत ही कम लोग होंगे जो कैमरे के बारे में पूर्ण रूप से जानते होंगे  लेख में हम जानेंगे Camera क्या है |कैमरे का आविष्कार किसने किया | कैमरे के कितने प्रकार होते है | इस लेख में आपको कैमरे से जुडी हर जानकारी मिल जायेगी तो चलिए शुरू करते है |

  1. Camera क्या है?
  2. कैमरे का आविष्कार किसने किया ?
  3. कैमरे का इतिहास

Camera क्या है:

Camera एक लैटिन शब्द Camera obscura का छोटा नाम है जिसका मतलब होता है Dark Chamber यानी “अँधेरा कमरा” कैमरा एक ऐसा उपकरण है जिसमे प्रकाश के प्रति संवेदनशील तत्वों या डिजिटल सेंसर का उपयोग करके हम दृश्यों को कैद कर सकते हैं | आसान शब्दों में कहा जाये तो कैमरा एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसके ज़रिये हम अपने आस-पास के दृश्यों को कैद कर के अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं |

कैमरे का आविष्कार किसने किया:

ऐसा माना जाता है की दुनिया में सबसे पहला कैमरा जोसेफ निकोरेफ़ नियेप ने बनाया था इसीलिए उन्हें  फादर ऑफ़ फोटोग्राफी भी कहा जाता है| वर्ष 1825 में सर जोसेफ ने दुनिया का पहला कैमरा बनाया जिसका नाम Pinhole Camera था |

कैमरे का इतिहास

कैमरा एक सिद्धांत पर काम करता है उस सिद्धांत का नाम है क”Camera obscura”| यह एक लैटिन वर्ड है जिसका मतलब होता है Dark Chamber “अँधेरे वाला कमरा” और यह नाम एक Invention को दिया हुआ नाम है जो किसी तस्वीर को बनाने में काम आता है| अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की ये “Camera Obscura” क्या है तो मैं आप को बता दूं की Camera obscura एक बड़ा बॉक्स होता है जिसका साइज़ एक छोटे कमरे जितना होता है और उस बॉक्स में एक छोटा सा होल भी होता है जिससे लाइट उस होल के ज़रिये पीछे की दीवार पर जाती है और होल के सामने की वस्तु का प्रतिबिम्ब वहां पर दिखाई देता है| परन्तु एक समस्या ये भी थी की जो आकृति उस दीवार पर पड़ती थी वो उलटी होती थी| इस समस्या को दूर करने के लिए 18वी. शताब्दी में शीशे का इस्तेमाल होने लगा| जिससे उलटी दिखने वाली आकृति सीधी दिखने लगी|  Pinhole camera जो की दुनिया का पहला camera था वो भी इसी सिद्धांत के ऊपर बनाया गया था लेकिन Pinhole Camera में एक सबसे बड़ी परेशानी ये थी की जब तक वह वस्तु कैमरे के सामने रहती थी तब तक ही वो कैमरे में कैद हो पाती थी|

Film कैमरे का आविष्कार:

जैसा की हमनें ऊपर पढ़ा की Pinhole कैमरे में वस्तु हमेशा के लिए कैद नहीं हो पाती थी| इस समस्या को दूर करने के लिए 1889 में जोर्ज ईस्टमैन ने कोडक कंपनी की शुरुआत की और फोटोग्राफी फिल्म और कोडक कैमरे का निर्माण किया| फिल्म कैमरे में फोटो को स्थाई रखने के लिए सिल्वर क्लोराइड या सिल्वर ब्रोमाइड के कागज़ का इस्तेमाल किया गया

Digital Camera क्या है:

 Digital Camera का आविष्कार सर्वप्रथम 1975 में कोडक के एक इंजीनियर Steven sesson ने करा था| जिसका वज़न  3.6 kg था  डिजिटल कैमरा एक ऐसा  कैमरा है जो डिजिटल मेमोरी में तस्वीरें कैप्चर करता है। … हालांकि, Film कैमरों के विपरीत, डिजिटल कैमरे रिकॉर्ड होने के तुरंत बाद स्क्रीन पर इमेज डिस्‍प्‍ले कर सकते हैं, और मेमोरी से इमेजेज को स्टोर या डिलिट कर सकते हैं। कई डिजिटल कैमरे साउंड के साथ वीडियो भी रिकॉर्ड कर सकते हैं। आजकल तो   Cameras का प्रयोग वाहनों,मोबाइल फ़ोन आदि में भी किया जाने लगा है|

प्रतिबिम्ब के Resolution के आधार पर Digital कैमरे तीन प्रकार के होते है\

  1. low Resolution Digital Camera: ये Digital कैमरे उसी प्रकार का प्रतिबिम्ब बनाते है जो हमारी कंप्यूटर स्क्रीन पर देखें जा सके लेकिन अगर हम उन्हें Zoom करते हैं तो उनके पिक्सेल दिखने लगते है
  2. Medium Resolution Digital Camera: यह हमारे Pixel के आकार में ही अच्छे फोटो खीचते हैं |
  3. High Resolution Digital Camera:  इन Resolution द्वारा खीचे गए फोटो को हम Zoom करके आसानी से देख सकते हैं इसमें Pixel नहीं दीखते हैं इनकी Qwalityकाफी अच्छी होती है |

कैमरे के प्रकार:

आजकल बाजारों में विभिन्न प्रकार के Cameras पाए जाते है जो की इस प्रकारहैं

फिल्ड कैमरा(Feild Camera)

इस कैमरे में आगे और पीछे दो समतल फ्रेम लगाए जाते हैं जिन्हें धोंकनी से आपस में जोड़ा जाता है |सामने वाले फ्रेम में लेंस लगाया जाता है और पिछले भाग में प्लेट लगी होती है| यह कैमरा स्टैंड पर लगा रहता है| इस से फोटो खीचने से पहले प्रतिबिम्ब पर फोकस करना पड़ता है फिर लेंस को ढक दिया जाता है|

बॉक्स कैमरा (Box Camera)

बॉक्स कैमरा एक साधारण प्रकार का कैमरा होता है , जिसमें सबसे सामान्य रूप एक कार्डबोर्ड या प्लास्टिक बॉक्स होता है जिसमें एक सिरे पर लेंस होता है और दूसरे पर फिल्म । इनके लेंस पर फोकस करने की ज़रुरत नहीं होती ओर अब इस कैमरे की कीमत भी ज्यादा नहीं है लेकिन 19 वीं सदी के अंत और 20 वीं सदी की शुरुआत में इन्हें बड़ी संख्या में बेचा गया था |

कॉम्पैक्ट कैमरा (Compact Camera)

कॉम्पैक्ट कैमरों को इस तरह से डिजाइन किया जाता है कि वे छोटे हों और वहनीय हों और ख़ास तौर पर कैज़ुअल और “स्नैपशॉट” प्रयोग के लिए उपयुक्त हों, इसलिए इन्हें पॉइंट-ऐंड-शूट कैमरा भी कहा जाता है| और इन कैमेरो में ज़ूम लेंस का भी प्रयोग किया जाता है|

मिनिएचर कैमरा (Miniature Camera)

ये कैमरे आकर में बहुत ही छोटे होते है और बहुत ही हलके भी होते हैं जिस वजहसे इन्हें जेब में भी रखा जा सकता है| यह कैमरे पारंपरिक कैमेरो की तरह काम करते हैं| यह एक छोटे से SD कार्ड में HD छवियों को कैप्चर करता है और उन्हें संगृहीत करता है यह एक मिनी कैमरा होता है जो की छोटे कैमकॉर्डर की तरह काम करता है क्योंकि रिकॉर्डर एम्बेडेड है| यह जासूसी उपकरण का एक हिस्सा होता है जिसे एक छुपे हुए कैमरे के रूप में प्रयोग किया जाता है|

पोलाराइड कैमरा 

इस कैमरे का आविष्कार सन 1947 में संयुक्त राज्य अमेरिका के डॉ एडविन लेंड ने किया था| इन कैमेरो को इंस्टेंट कैमरा भी कहा जाता है क्योंकि इसके प्रिंट्स कुछ ही क्षणो में प्राप्त हो जाते हैं|

रिफ्लेक्स कैमरा 

रिफ्लेक्स कैमरा एक कैमरा होता है जो फोटोग्राफर को लेंस के माध्यम से दिखाई देने वाली छवि को देखने की अनुमति देता है, और इसलिए यह देखने के लिए कि क्या कैप्चर किया जाएगा, व्यूफाइंडर कैमरों के विपरीत जहां छवि को कैप्चर किया जा सकता है से काफी अलग हो सकता है।

ऑटो कैमरा 

यह एक स्वचालित कैमरा होता है| इसे कोमल कैमरा भी कहा जाता है| इसमें मैन्युअल कैमरे वाली सभी सुविधाएं उपलब्ध होती है |

स्टीरियो कैमरा

एक ही वास्तु के दो लेंस द्वारा दो चित्र बनता है जिसे की थ्री डायमेंशनल कहते हैं |

डिजिटल कैमरा:

डिजिटल कैमरा एक ऐसा  कैमरा है जो डिजिटल मेमोरी में तस्वीरें कैप्चर करता है। … हालांकि Film कैमरों के विपरीत, डिजिटल कैमरे रिकॉर्ड होने के तुरंत बाद स्क्रीन पर इमेज डिस्‍प्‍ले कर सकते हैं, और मेमोरी से इमेजेज को स्टोर या डिलिट कर सकते हैं।

चलिए अब जान लेते हैं की फिल्म कैमरे और डिजिटल कैमरे में क्या अंतर है

डिजिटल कैमरे फिल्म कैमेरो के ही एडवांस रूप हैं| तो चलिए जान लेते हैं कुछ मुख्य कैमेरो की फुल फॉर्म्स

  1. SLR :  Single Lens Reflex
  2. DSLR: Digital Single Lens Reflex
  3. Milc: Mirrorless Interchangable Lens Camera
  4. MFT: Micro Four Thirds

DSLR  कैमरा क्या है

DSLR कैमरा एक डिजिटल कैमरा होता है जिसे डिजिटल इमेजिंग सेंसर के साथ सिंगल लेंस रिफ्लेक्स कैमरा के ऑप्टिक्स और मैकेनिज्म को मिलाकर बनाया गया है. ये फोटोग्राफिक फिल्म के बिलकुल उल्टा होता है. इस तरह के कैमरा में आप वही देखते हैं जो उस लेंस में दिखाई देता है. इसमें लेंस को बदला भी जा सकता है. इसकी मदद से हम बहुत ही हाई Qwalityके फोटो खिंच सकते हैं क्यों की इसमें बहुत बड़े साइज के इमेज सेंसर लगे हुए होते हैं. DSLR कैमरा में अंतराल यानि lag time zero होता है ये एक्शन फोटोग्राफी के लिए आदर्श होता है.

Conclusion:

आज के हमारे लेख का विषय था “Camera क्या है “| Camera  का इतिहास क्या है|उम्मीद करता हूँ आपको मेरा ये लेख ज़रूर पसंद आया होगा| इस लेख में मैंनेआपको   के बारे में पूर्ण जानकारी देने का प्रयास किया है अगर आपको मेरी ये जानकारी पसंद आये तो अपने दोस्तों  व् अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ज़रूर शेयर करे |  टेक्नोलॉजी,ब्लॉग्गिंग और इतिहास से रिलेटेड और भी जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट Gyaanhindime.com को ज़रूर सब्सक्राइब कर ले|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here