कैसे 29 वर्षीय Henno Renner ने 14 हजार के स्टार्टअप को $500 मिलियन की कंपनी में बदल दिया जिसने अपनी मेहनत के दम पर1 min read

0
27
Reading Time: 2 minutes

सफलता की कहानियां हमेशा ठोस स्याही से लिखी जाती हैं। अगर आप कड़ी मेहनत करते हैं और दुनिया से बाहर सोचने की क्षमता रखते हैं तो दुनिया में कोई ताकत नहीं है जो आपको सफल होने से रोक सकती है। यह तुच्छ नहीं है लेकिन कभी-कभी लोगों को अपने स्वयं के प्रयासों और नए विचारों पर कार्य करना असंभव लगता है।

14 हजार से शुरू की कंपनी को अरबों का बनाया

एक और उदाहरण सॉफ्टवेयर कंपनी पर्सनियो के सीईओ होनो रेनर ने दिया। होनो ने छह साल पहले पर्सनियो जैसे स्टार्टअप की स्थापना की थी। कुछ ही समय में यह स्टार्टअप यूरोप के सबसे मूल्यवान स्टार्टअप्स में से एक बन गया है। होनो से 200 $ यानी 14000 रुपए में शुरू। वर्तमान में स्टार्ट-अप का बाजार मूल्य 468 अरब के साथ 63 अरब है। रेनर ने यह सफलता की कहानी एक इंटरव्यू में बताई।

कड़े संघर्ष के बाद रंग लाई हनो रेनर की मेहनत 

एक साक्षात्कार में हनो ने कहा कि उनकी कंपनी आज अरबों की हो सकती है लेकिन उनकी कंपनी के बैंक खाते में केवल 226 डॉलर ही बचे हैं। लेकिन हानो ने हार नहीं मानी और लगातार मेहनत करते रहे। उनकी कड़ी मेहनत के परिणामस्वरूप उनकी कंपनी ने केवल छह वर्षों में 6 बिलियन डॉलर जुटाए हैं। हनो पुरुष अब 1000 से अधिक लोगों को रोजगार देते हैं।

चार दोस्तों ने शुरू किया था ये स्टार्टअप 

दो मुख्य कॉलेजों के संयुक्त संस्थान सेंटर फॉर डिजिटल टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट में पढ़ाई के दौरान हनो की मुलाकात रोमन शूमाकर, आर्सेनी वर्शिनिन और इग्नाज फोर्स्टमेयर के साथ हुई. चारों की सोच एक जैसी थी, ये चारों अपना कुछ नया स्टार्टअप शुरू करना चाहते थे. इसके बाद 2015 में इन चारों ने मिलकर जर्मनी के म्यूनिख में पर्सोनियों कंपनी की स्थापना की. 

एक वक्त में ऑफिस तक नहीं था 

शुरुआत में पर्सोनियो को लेकर इन सबने कुछ ज़्यादा बड़ा प्लान नहीं किया था. कंपनी को मीडियम स्केल पर चलाने की ही सोच थी. कंपनी स्टार्ट होने के बाद चारों दोस्तों को इसे चलाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा. उस समय इनके पास एक ऑफिस भी नहीं था, इसलिए उन्होंने कॉलेज में पर्सोनियो के पहले सॉफ़्टवेयर उत्पाद के निर्माण के लिए जहां कहीं भी जगह पाई, वहां काम किया. 

500 मिलियन डॉलर का फंड जुटाया 

धीरे धीरे चारों की मेहनत रंग लाने लगी और जुलाई 2016 में पर्सोनियो ने निवेशकों द्वारा 2.1 मिलियन यूरो का फंड जमा किया. इसके बाद इन दोस्तों और इनकी कंपनी के हालात सुधरने लगे. अभी तक पर्सोनियो निवेशकों से 500 मिलियन डॉलर से अधिक का फंड जुटा चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here